राजस्थानराज्यवार खबरें

श्रीगंगानगर के कृषि अनुसंधान केन्द्र को मिला आइएसओ प्रमाण पत्र

बीकानेर, 9 अप्रैल। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के श्रीगंगानगर स्थित कृषि अनुसंधान केन्द्र (एआरएस) को क्वालिटी मैनेंजमेंट सिस्टम में आइएसओ 9001ः2015 प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ है। श्रीगंगानगर का यह केन्द्र राज्य का पहला कृषि अनुसंधान केन्द्र है, जिसे यह उपलब्धि हासिल हुई है।
कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने बताया कि केन्द्र को यह प्रमाण पत्र अनुसंधान एवं फसल सुधार, उत्पादन और संरक्षण प्रौद्योगिकियां, प्रमाणित फसल की किस्मों के उत्पादन, फल उत्पादन के लिए उच्च गुणवत्ता वाले पौधों की आपूर्ति और कृषि विस्तार प्रशिक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के फलस्वरूप प्राप्त हुआ है। यह प्रमाण पत्र 7 अप्रैल 2020 से 6 अप्रैल 2023 तक प्रभावी रहेगा।
कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय से संबद्ध इकाईयों को पिछले छह महीनों में पांचवां आइएसओ प्रमाण पत्र मिला है। इससे पहले कृषि यंत्र एवं मशीनरी परीक्षण एवं प्रशिक्षण केन्द्र को क्वालिटी मैनेंजमेंट और एनवारयमेंट मैनेंजमेंट के लिए अलग-अलग आइएसओ प्रमाण पत्र प्राप्त हुए। वहीं कृषि व्यवसाय प्रबंध संस्थान और सीड प्रोजक्ट को भी आइएसओ प्रमाण पत्र मिल चुके हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी उपलब्धियों से विश्वविद्यालय की साख में और अधिक वृद्धि होगी। निकट भविष्य में अन्य इकाईयों के लिए भी ऐसे प्रयास किए जाएंगे।
अनुसंधान निदेशालय के निदेशक डाॅ. पी. एस. शेखावत ने बताया कि अनुसंधान केन्द्र केक्षेत्रीय निदेशक डाॅ. यू.एस. शेखावत और सभी अधिकारियों की ‘टीम भावना’ के फलस्वरूप यह उपलब्धि हासिल हुई है। केन्द्र द्वारा आइएसओ के विभिन्न मानकों के आधार पर रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। सभी मानकों पर खरा उतरने के बाद यह प्रमाण पत्र मिला है। उन्होंने कृषि अनुसंधान केन्द्र के सभी कार्मिकों को बधाई दी है। 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close