बीकानेरराजस्थानराज्यवार खबरें

धैर्य रखें, घरों में सुरक्षित रहें- कुमार पाल गौतम

धैर्य रखें, घरों में सुरक्षित रहें, सरकार और प्रशासन आपके सहयोग के लिए प्रतिबद्ध है

जिला मजिस्ट्रेट बोले -निषेधाज्ञा परेशानी के लिए नहीं सुरक्षा के लिए, करें अनुपालना

बीकानेर, 12 अप्रैल। जिला मजिस्ट्रेट कुमार पाल गौतम ने कहा कि शहर के लोगों को कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाना प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है और इसी के मद्देनजर कुछ क्षेत्रों में निषेधाज्ञा लागू की गई है। रविवार शाम को गंगाशहर निषेधाज्ञा क्षेत्र का दौरा करते हुए गौतम ने आम लोगों को इस बात के लिए आश्वस्त किया कि सरकार और प्रशासन आप की सुरक्षा के लिए है और आमजन को आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध हो इसके लिए शिद्दत के साथ कार्य किया जा रहा  है। जनता को  निर्भीक होकर रहना है किसी तरह का मन मे भी भय नहीं रखना, किसी अफवाह पर गौर नहीं करें और भयमुक्त होकर अपने घरों में रहें। प्रशासन की ओर से पूरे प्रयास किए जाएंगे कि आपको किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े। गंगाशहर क्षेत्र का सघन दौरा करते हुए उन्होंने इस बात के लिए भी लोगों से अपील की यह समय समस्त आशंकाओं को निर्मूल साबित करने का है । निषेधाज्ञा का मतलब आमजन को भयभीत करना नहीं है बल्कि किसी भी संभावित परेशानी को जड़ से हटाने के लिए  है। यह सुरक्षा के लिहाज से किया जा रहा है क्षेत्र के लोगों को आवश्यक सामग्री की कोई असुविधा नहीं होगी, इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर पूरी व्यवस्था की जाएगी। संकट के इस दौर में आमजन अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए  घरों में रहकर  सहयोग करें। निषेधाज्ञा क्षेत्र में दौरे के दौरान जिला मजिस्ट्रेट ने तमाम व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। दौरे के समय जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा सहित अन्य अधिकारी साथ थे।
जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि पूरे क्षेत्र में सोडियम हागपोक्लोराइट का छिड़काव बेहतर तरीके से किया जाए , साथ ही रोगी जिस चिकित्सक को दिखा रहा था, उसकी भी जांच की जाए। जिला कलक्टर ने कहा कि है इस क्षेत्र में इस तरह से बैरिकेडिंग की जाए की जिस मकान में रोगी चिन्हित हुआ है, उसके आसपास से कोई व्यक्ति बाहर आ जाए और ना ही कोई अंदर प्रवेश करें।
अभय कमांड से होगी निगरानी
जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि क्षेत्र के मुख्य मार्गों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, जिन्हें अभय कमांड सेंटर से भी जोड़ा हुआ है। ऐसे में संपूर्ण क्षेत्र की निगरानी अभय कमांड सेंटर के माध्यम से भी की जाएगी।
आज ही हो जाएं सैंपल
जिला कलक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि रोगी के आसपास के मकान और मकान में रहने वाले सभी व्यक्तियों की सैंपलिंग आज ही कर ली जांए।
पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा ने कहा कि अब संपूर्ण निषेधाज्ञा क्षेत्र में पुलिस का जाब्ता लगा दिया गया है और आवागमन  रोक दिया गया है। आवागमन कम से कम रहे और लोग अधिक से अधिक सुरक्षित रह सकें, इसके पक्के बंदोबस्त किए गए हैं।  इसके बाद जिला मजिस्ट्रेट  गौतम ने शहर के अन्य निषेधाज्ञा प्रभावित क्षेत्रों का भी दौरा किया और व्यवस्थाएं देखकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
विकास असम से आया था दिल्ली होते हुए
गंगाशहर में जहां विकास सेठिया चिन्हित हुआ है। यह व्यक्ति आसाम से आया था। आसाम से दिल्ली और दिल्ली में अपने ससुर का इलाज करवा कर बीकानेर लौटा था।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close