बीकानेर

जेएनवीसी सेक्टर चार में वृद्ध की मोत

जनमत पत्रिका, बीकानेर। जय नारायण व्यास कॉलोनी चार नंबर सैक्टर में रहने वाले एक बुजुर्ग प्रोफेसर की बीती रात संदिग्ध हालातों में मौत हो गई और उनकी बीमारी से लाचार पत्नि रातभर शव को संभालती रही। सुबह नौकरानी साफ सफाई के पहुंची तो मकान का दरवाजा अंदर से बंद मिला,काफी देर दरवाजा नहीं खुला तो नौकरानी ने पड़ोसियों को बुलाया और दरवाजा तोड़कर खोला तो कमरें में पंलग पर मृत बुजुर्ग का शव पड़ा था,उसकी बीमारी पत्नि बेसुध हालात में पास बैठी थी।

इसकी सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची व्यास कॉलोनी पुलिस ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम बुलाकर शव को एबूंलेस के जरिये पीबीएम की मोर्चरी भिजवा तथा बीमार बुजुर्गा को नीजि वाहन के जरिये इलाज के लिये पीबीएम होस्पीटल भेजा। मामला संदिग्ध हालातों में मौत का होने के कारण एएसपी सिटी पवन कुमार मीना और सीओं सदर पवन सिंह भदौरिया भी घटनास्थल पर पहुंच गये। मौके पर पहुंचे व्यास कॉलोनी थाना पुलिस के उप निरीक्षक आंनद मिश्रा ने बताया कि मकान नंबर 4 ई249 में रहने वाले अस्सी वर्षीय बुजुर्ग प्रोफेसर सुशील कुमार सिन्हा की रात को मौत हो गई,मकान में दोनो दंपति अकेले ही रहते थे।

दिवंगत बुजुर्ग की पत्नि खुद लकवाग्रस्त होने के कारण लाचारी में रातभर शव के पास बैठी रही और अचेत हो गई। जांच पड़ताल में पता चला है कि बुजुर्ग दंपति के दोनों बेटों में से एक गुरूग्राम में सर्विस करता है दूसरा यूएसए गया हुआ है। घर में बीमार दंपति को संभालने वाला कोई नहीं था,एक नौकरानी सुबह शाम साफ सफाई और खाना बनाकर चली जाती थी। इसके अलावा आस पड़ोस के लोग ही बुजुर्ग दंपति को कभी कभार संभाल लेते। पड़ोसियों ने ही बताया कि प्रोफेसर सुशील कुमार सुबह शाम घर से निकलते थे,उनकी पत्नि बीमारी के कारण बाहर ही नहीं निकलती थी।

यह भी पता चला है कि सुशील कुमार अभी दो दिनों से थोड़े अस्वस्थ्य थे। फिलहाल पुलिस ने मृतक बुजुर्ग के बेटों और परिजनों को उनके निधन की सूचना दे दी है। पुलिस के अनुसार सुशील कुमार की मौत बीमारी की हालात में हुई इसलिये उनके शव की कोरोना जांच करवाई जायेगी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close